10 आदते जो बच्चों को बनाएगी अमीर 10 habits should in the child to be rich in Hindi

10 habits should in the child to be rich in Hindi


हम में से ज्यादातर लोग चाहते है कि हमने जिस तरह की पैसे की तंगी जीवन में देखी है उस तरह की तंगी और परेशानी हमारे बच्चे ना देखें और वह अमीर बने, इसलिए हम उनको स्कूली शिक्षा देते है, कॉलेज की शिक्षा देते है, सामाजिक शिक्षा देते है पर इसके साथ एक और शिक्षा जो बहुत जरुरी होती है वह है आर्थिक शिक्षा।
कुछ दिन पहले मैंने एक किताब पढ़ी ” रिच डेड पुअर डेड ” उस किताब में रॉबर्ट टी. कियोसाकि ने बताया है

कि जो आमिर लोग होते है वह हमेशा यह चाहते हैं कि उनके बच्चे अमीर ही रहे और इसके लिये वह बच्चों शुरू से ही आर्थिक शिक्षा देते है और बच्चों में कुछ अच्छी आदते विकसित कर देते है जो उनके अमीर बनने मदद करती है।
यह आदते बच्चों से लेकर बड़ो तक आमिर बनने के लिए सभी में जरुरी होती है।

10 आदते जो बच्चों को बनाएगी अमीर

1. –  काम के बदले में पैसा
बच्चों को यह शिक्षा देना बहुत आवश्यक है कि पैसा कहां से आता है और कैसे आता है।पैसा कभी भी बिना मेहनत या बिना काम के नहीं आता, इसके लिए काम करना बहुत ही जरुरी होता है। इसकी शुरुआत हम बच्चों को घर पर कोई खास काम दे कर कर सकते है और इसके बदले बच्चों को पैसे का भुगतान कर सकते है। साथ ही बच्चों को यह सिखाना भी जरुरी है कि इस पैसे का इस्तेमाल कैसे करे।

2. – निवेश करना सिखाएं

बच्चों को यह सिखाना भी जरूरी है कि पैसे का निवेश करने से ही पैसे बनते है पर निवेश समझदारी के साथ करना होता है । इससे बच्चों में निवेश की आदत विकसित हो जाएगी।

3 .- पैसों के बारे में छुपाएं नहीं
ज्यादातर पैरेंट्स बच्चों के सामने पैसे की बातें नहीं करते उन्हे लगता है कि इससे बच्चे आलसी हो जाएंगे। कई लोगों को लगता है कि इससे  महत्वपूर्ण जानकारियां लिक हो सकती है। पर यह सब महज हमारे मन का वहम है। बच्चों को पैसो से जुड़ी हर जानकारी दे क्योंकि आज नहीं तो कल बच्चों को यह जानना जरुरी हो ही जाएगा।

4 . – बचत , शेयरिंग और खर्च
जब बच्चे पैसा कमाने का concept सिख जाए तो उसे कमाई से जुड़ी हुई तीन बातें सीखाएं- शेविंग, शेयरिंग और स्पेंडिंग। बच्चों को भविष्य के लिए बचत करना सीखाना है जो आज हम बचत कर रहे है यह आगे हमें काम आती है। मदद के लिए शेयरिंग करना सीखाऐ। और तीसरा अपनी जरुरत को पूरा करने के लिए खर्च करना सीखाए ।उसका सेविंग अकाउंट खुलवाएं।

5. – विश्वास पैदा करें
पैसो से जुड़ी समझ विकसित करने के लिए बच्चों को किसी फाइनेंशियल इंस्टिट्यूट में भेज सकते है वहां वित्तीय प्रबंधन से जुड़ी बारीकीया सीखकर बच्चा धन का सही निवेश कर सकता है। बच्चों में धन के प्रति विश्वास पैदा करें। 

6. – प्लान करना सिखाएं
जिस तरह अपने जीवन भर पैसो को लेकर प्लानिंग की है । उसी तरह अपने बच्चों को भी पैसो से जुडी प्लानिंग करना सिखाए। प्लानिंग में उसकी मदद करे। उसे बताए की कितना पैसा बचाना है और कितना खर्च करना है क्योकि बिना प्लानिंग के चाहे कितना भी पैसा हो संभाल नहीं सकते। बच्चों को आपके अनुभवो का फायदा लेने दे।

7. – दान से बढ़ता है पैसा

जैसा कि हम सब लोग जानते हैं बिल गेट्स ने अपनी संपत्ति का ज्यादातर हिस्सा दान कर दिया फिर भी वह दुनिया के सबसे अमीर आदमी है दान धन की सर्वोत्तम गति मानी जाती है बच्चों को सिखाएं और बताएं कि अगर वह जरुरत से ज्यादा पैसा कमा रहे है और किसी की मदद नहीं कर रहे है तो ऐसा पैसा लंबे समय तक उनके पास नहीं टिकेगा। बच्चों को सिखाएं कि अपनी आय का एक हिस्सा परोपकार के कार्यों में लगाए अगर वह किसी जरुरतमंद की पढ़ने में मदद करते है या किसी गरीब को स्वरोजगार के लिए धन देते हैं तो आपका दिया हुआ धन वापस दुगना हो कर उनके पास लौटेगा। इससे खुशी और संतोष दोनो मिलेगा।

8. – अच्छी परवरिश करें
कई बार जिन लोगों के पास पर्याप्त पैसे होते है अक्सर उनके बच्चे मेहनत करने से कतराते हैं और उनमें गलत आदतें जल्दी घर करती है कभी भी बच्चों को यह ना सिखाएं कि आपके पास काफी पैसा है तो कुछ करने की जरुरत नहीं है। अगर हम यह शिक्षा देंगे तो वह शायद ही मेहनत करें। अच्छी परवरिश का मतलब बच्चों को अपने जीवन मूल्य सिखाने कि ज्यादा से ज्यादा कोशिश करें। आपने अपने जीवन में जो हासिल किया वह सब कुछ जीवन मूल्यों और मेहनत के दम पर हासिल किया है । इसलिए बच्चों को अच्छे संस्कार दे। अच्छे संस्कारो के बाद ही पैसे का नम्बर आता है। अपने बच्चों को पैसो के पीछे भागना न सिखाएं।

9. – मन की शांति यानी सच्चा धन
अगर आपके बच्चे पैसों को लेकर इमानदारी बरतेंगे तो वह पूरी उम्र धनी बने रहेंगे। पैसो को लेकर बेईमानी करने वाला व्यक्ति कभी भी पूर्ण धनी नहीं बन सकता। पुणे धनी का मतलब है पैसो के साथ-साथ मन की शांति। आप बच्चों को पैसो के सिद्धांत तो समझा देते है पर मन की शांति के बारे में चर्चा करना भूल जाते है। बच्चों का अमीर बनने के साथ एक अच्छा इंसान बनना भी जरुरी है।

10. – धन से जुड़े निर्णय लेना सिखाएं

हर कोई वारेन बफेट और बिल गेट्स की तरह नहीं होता जो अपनी सारी संपत्ति चैरिटी में दे दे। ज्यादातर लोग जीवन की पूरी कमाई बच्चों को सौंप देते है, वह सोचते हैं कि उनके बच्चे हैं धन से जुड़ी हर जिम्मेदारी को संभाल लेंगे। वह बच्चों को शुरू से मनी मनेजमेंट नहीं सिखाते  ऐसे में जब उन को एक साथ ज्यादा धन मिलता है तो वह निर्णय नहीं ले पाते कि इसका आ सदुपयोग कैसे करना है इसलिए धन से जुड़े निर्णय लेना भी सिखाना बहुत जरूरी है ।
आप बच्चों को धन से मित्रता करना सिखाएं धन के पीछे भागने के बजाएं अच्छे कर्म पर जोर दे अगर आपका वह इमानदारी के साथ कड़ी मेहनत करेगा तो धनवान जरूर बनाएगा।
sours – partly newspaper 

You Must Read Also………………
———————————————————-
  यह आर्टिकल आपको कैसा लगा comments जरूर करे , ताकि हम और useful knowledge post कर पाये। और अगर आप के पास कोई motivational Hindi story या article है तो हमे भेजे हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ पोस्ट करेंगे। Thanks . हमारी e-mail id- [email protected] है।

Get Moral Mantra Updates by email

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *