Narendra Modi Biography In Hindi नरेन्द्र मोदी की सफलता की कहानी

 

narendra modi biography in hindi,narendra modi success story in hindi , biography of narendra modi in hindi , pm narendra modi in hinidi , narendra modi in hindiNarendra Modi की Biography या फिर Narendra Modi की Success Story कहें तो उसमे सबसे ख़ास बात यह है कि Narendra Modi ने एक Middle Class family में जन्म लिया लेकिन Narendra Modi अपनी लगन और मेहनत से अपने आप को उस मुकाम पर ले गए जहाँ आज पूरी दुनिया आज़ नरेंद्र मोदी का नाम जानती है तो आइये जानते है श्री नरेन्द्र मोदी के जीवन की इस यात्रा को ( Narendra Modi Success Story In Hindi ). 

 

Narendra Modi Biography In Hindi [ Narendra Modi  Success Story In Hindi ]

Narendra Modi का पूरा नाम नरेन्द्र दामोदर दास मोदी है।  उनका जन्म 16 September 1950 को गुजरात के एक छोटे से गाँव बड़नगर में हुआ था। उनकी माँ हीराबेन मोदी और पिता श्री दामोदर दास मूलचंद मोदी है।

नरेन्द्र मोदी के पिता बड़नगर railway station के सामने चाय की एक दुकान चलाते थे और नरेन्द्र मोदी भी उनकी मदद किया करते थे।

 

नरेन्द्र मोदी की राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS )में रूचि –

नरेन्द्र मोदी की मुलाकात चाय की  दुकान पर वक़ील साहब ( लक्ष्मण राव ईमानदार ) से हुई जो कि बड़नगर में RSS ( राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ) की शाखा चलाते थे। वकील साहब की बातों से Narendra Modi काफी प्रभावित हुए और वही से उनमें समाजसेवा और राष्ट्र सेवा की भावना जाग्रत हुई।

मात्र 8 साल की उम्र में ही नरेन्द्र मोदी संघ में बाल स्वयंसेवक बन गए और सामाजिक कार्यो में निस्वार्थ योगदान देना शुरू किया।

श्री नरेन्द्र मोदी के आदर्श स्वामी विवेकानन्द रहें , जब भी समय मिलता नरेन्द्र मोदी स्वामी विवेकानन्द की किताबें पढ़ते थे और उनकी बातों का अनुशरण करते वह स्वामी विवेकानन्द से  बड़े प्रभावित थे।

 

Read Also स्वामी विवेकानंद के अनमोल वचन 


 

नरेन्द्र मोदी की सामाजिक कार्यो में रूचि बढ़ती गई चाहे वह गुजरात में आई बाढ़ में बाढ़ पीड़ितों की मदद करना हो या पूर्वी पाकिस्तान युद्ध के समय रेल्वे स्टेशन पर सेना की मदद करना हो उनके सामाजिक कार्य बढ़ते गए।

17 वर्ष की आयु में नरेन्द्र मोदी ने हिमालय पर जाकर आध्यात्मिक चिंतन करने की इच्छा जताई। घरवालो ने शुरुआत में उन्हें हिमालय जाने से मना कर दिया परंतु कुछ दिनों के बाद वह मान गए। लगभग 2 साल तक हिमालय में चिंतन मनन करने के बाद 19 साल की आयु में 1969 में वापस अपने घर लौटे। लौटने के बाद एक दिन दोबारा वह वकील साहब से मिले, वकील साहब ने उन्हें RSS Join  करने को कहा और उसी समय से नरेंद्र मोदी संघ के पूर्णकालिक प्रचारक बन गए और अहमदाबाद में संघ के कार्यालय में रहने लगे।

25 – 26 जून 1975 की रात को देश में इमरजेंसी का ऐलान कर दिया गया। अटल बिहारी वाजपेई और संघ के मुख्य नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया। पूरी इमरजेंसी के दौरान नरेंद्र मोदी अपना भेष बदलकर केंद्र की फांसीवादी  नीतियों  का विरोध करते रहे।

 

नरेन्द्र मोदी का राजनितिक सफ़र –

1986 में नरेंद्र मोदी की बीजेपी में एंट्री हुई , उनके आगमन के साथ ही उन्होंने बीजेपी को न्याय यात्रा निकालने का idea दिया जो कि काफी सफल रहा , फिर नवंबर 1990 में आडवाणी के साथ अयोध्या तक की यात्रा की और नरेंद्र मोदी , आडवाणी के काफी करीब आ गए।

11 दिसंबर 1991 को मुरली मनोहर जोशी ने कन्याकुमारी से श्रीनगर तक एकता यात्रा शुरू की , पूरी यात्रा के दौरान नरेंद्र मोदी , मुरली मनोहर जोशी के साथ रहे और 26 जनवरी 1992 को श्रीनगर के लाल चौक में तिरंगा फहराया।

7 अक्टूबर 2001 को नरेंद्र मोदी को गुजरात के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाली फरवरी 27 फरवरी 2002 गोधरा की के पास कुछ उपद्रवियों ने अयोध्या से आ रही ट्रेन में आग लगा दी जिसमें 58 कार सेवक जिंदा जल गए। जिसके बाद पूरे गुजरात में दंगे भड़क गए जिनके कारण  नरेंद्र मोदी की काफी आलोचना हुई।

इसके बाद फिर गुजरात विधानसभा के चुनाव हुए जिसमें BJP  की जीत हुई। नरेंद्र मोदी फिर गुजरात के मुख्यमंत्री बने और मोदी ने सुबह से लेकर रात 12:00 बजे तक काम  करना शुरु किया।

धीरे – धीरे मोदी सोने की तरह तपते हुए देश की राजनीति में उभरने लगे। 2007 में गुजरात विधान सभा में मोदी फिर जीते इस जीत के बाद उन्होंने गुजरात को बदलना शुरू किया। धीरे – धीरे गुजरात पूरे देश में चमकने लगा। 2012 में नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर भारी बहुमत से गुजरात में जीत दर्ज की और गुजरात मैं लगातार चौथी बार मुख्यमंत्री बने। नरेन्द्र मोदी की बातों का प्रभाव पुरे देश के लोगो पर पड़ने लगा।

 

गुजरात की चमक और मोदी के बढ़ते कद को देखते हुए 2014 में भाजपा ने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित किया। नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में लगभग 5827 रेलियां और कार्यक्रम किए और मोदी के नेतृत्व में 2014 में भाजपा ने 282 सीटें जीती और बतौर प्रधानमंत्री 26 मई 2014 को प्रधानमंत्री पद की शपथ ली और तब से लेकर अब तक देश और समाज के विकास में कार्यरत हैं।

 

Other links-

 

नरेन्द्र मोदी की सफलता की कहानी  ( Narendra Modi Success Story ) या नरेन्द्र मोदी की जीवनी ( Narendra Modi Short Biography In Hindi ) से यही सिखने को मिलता है कि किस तरह Narendra Modi ने अपने जीवन में struggle करके बिना रुके बिना थके Indian politics में Success Achieve की , इसी प्रेरणा के साथ हमें भी  जीवन में आगे बढ़ते रहना चाहिए।

 

4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *